Flash Story
देहरादून :  मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल लिवर रोगों  को दूर करने में सबसे आगे 
जेल में बंद कैदियों से मिलने के लिए क्या हैं नियम
क्या आप जानते हैं किसने की थी अमरनाथ गुफा की खोज ?
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने भारतीय वन सेवा के 2022 बैच के प्रशिक्षु अधिकारियों को दी बधाई
आग में फंसे लोगों के लिये देवदूत बनी दून पुलिस
आगर आपको चाहिए बाइक और स्कूटर पर AC जैसी हवा तो पड़ ले यह खबर
रुद्रपुर : पार्ट टाइम जॉब के नाम पर युवती से एक लाख से ज्यादा की ठगी
देहरादून : दिपेश सिंह कैड़ा ने UPSC के लिए छोड़ दी थी नौकरी, तीसरे प्रयास में पूरा हुआ सपना
उत्तराखंड में 10-12th के बोर्ड रिजल्ट 30 अप्रैल को होंगे घोषित, ऐसे करें चेक 

धामी कैबिनेट के सभी मंत्री हैं करोड़पति – औसतन 16 करोड़ है संपत्ति 

एक तरफ जहाँ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कई पुराने रिकॉर्ड को तोड़ते हुए दूसरी बार सीएम पद की शपथ ली तो वहीँ अब नए रिकॉर्ड भी बनते दिख रहे हैं। मुख्यमंत्री समेत धामी कैबिनेट में शामिल सभी मंत्री करोड़पति हैं। पहली बार मंत्री बनाए गए चंदन राम दास के पास सबसे कम 1.24 करोड़ रुपये की संपत्ति है। सबसे कम संपत्ति वाले मंत्रियों में सुबोध उनियाल दूसरे और धन सिंह रावत तीसरे नंबर पर हैं। उनियाल के पास कुल 1.61 करोड़ रुपये और धन सिंह रावत के पास 2.67 करोड़ रुपये की संपत्ति है। सबसे अमीर मंत्री चौबट्टाखाल से जीते सतपाल महाराज हैं। महाराज के पास कुल 87.34 करोड़ रुपये की संपत्ति हैं। धामी कैबिनेट की इकलौती महिला मंत्री रेखा आर्य के पास 25.20 करोड़ रुपये की संपत्ति है। रेखा सबसे अमीर मंत्रियों में दूसरे नंबर पर हैं। धामी कैबिनेट की औसत संपत्ति 16 करोड़ रुपये है। खुद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के पास 3.34 करोड़ रुपये के संपत्ति है।

कैबिनेट की औसत उम्र करीब 56 साल

धामी कैबिनेट की औसत उम्र 55.9 साल है। मुख्यमंत्री धामी समेत तीन मंत्री 50 साल से कम उम्र के हैं। कैबिनेट की अकेली महिला मंत्री रेखा आर्य और सौरभ बहुगुणा 43 साल के हैं तो मुख्यमंत्री धामी की उम्र 46 साल है। 50 से 60 साल के मंत्रियों में केवल 52 साल के धन सिंह रावत हैं। बाकी पांच मंत्री 60 साल से अधिक उम्र के हैं। सतपाल महाराज कैबिनेट के सबसे अमीर मंत्री होने के साथ ही सबसे बुजुर्ग मंत्री भी हैं। महाराज की उम्र 70 साल है।

कितनी पढ़ी-लिखी है धामी कैबिनेट?

बात एजुकेशन की करें तो सिवाय एक मंत्री को छोड़ ज्यादातर पढ़े लिखे मंत्री शामिल हैं। कैबिनेट में दोबारा शामिल मसूरी विधायक गणेश जोशी कैबिनेट के सबसे कम पढ़े लिखे मंत्री हैं। रिकॉर्ड बताते हैं कि गणेश जोशी सिर्फ 10वीं पास हैं। वहीँ सतपाल महाराज 12वीं पास हैं। नए मंत्री बनाये गए दलित फेस बने चंदन राम दास स्नातक हैं। वहीं, मुख्यमंत्री समेत चार मंत्री परास्नातक हैं। धन सिंह रावत कैबिनेट के सबसे पढ़े लिखे मंत्री हैं। रावत ने पीएचडी की है। वहीं, युवा मंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले सितारगंज विधायक सौरभ बहुगुणा ने एलएलबी की है। इस तरह से प्रदेश को करोड़पारी मंत्रियों की एक मिली जुली कैबिनेट मिल चुकी है। जिसके काम का आगाज़ पहली कैबिनेट मीटिंग से ही शुरू हो रहा है। 

पहली बार महिला विधानसभा अध्यक्ष बनेगी ऋतू खंडूरी 

उत्तराखंड के इतिहास में पहली बार महिला स्पीकर बनने जा रही है। भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी की बेटी रितु खंडूरी को विधानसभा स्पीकर बनाए जाने का यह बड़ा फैसला लिया है। उत्तराखंड में भाजपा ने यह नया इतिहास लिखा है। रितु कोटद्वार से विधायक चुनकर आई हैं। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 में कोटद्वार से उनकी यह जीत कई मायनों में खास रही है। कोटद्वार सीट से चुनाव जीतकर उन्होंने अपने पिता की हार का बदला लिया था। अब इसके साथ ही अब पहली महिला स्पीकर का बनकर इतिहास रच रही हैं।

4 Attachments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top