• Home
  • UTTARAKHAND
More

    सावधान-यूपीसीएल की ऊर्जागिरी मुहिम बिजली चोरो के लिए बड़ा ख़तरा, पढ़ो क्या है पूरा मामला

    मोहम्मद सलीम सैफ़ी/आशीष तिवारी-

    देहरादून,2 अक्टूबर, उत्तराखंड सरकार ने आज से प्रदेश में ऊर्जागिरी अभियान की शुरुआत कर दी है … प्रदेश में बिजली चोरी रोकने के साथ साथ लीकेज पर नियंत्रण इसका सबसे बड़ा मकसद है .. मुख़्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सीएम आवास में यूपीसीएल के इस जागरूकता मिशन का शुभारम्भ किया …. ऊर्जागिरी …… जी हाँ गांधीगिरी के बाद अब उत्तराखंड में ऊर्जागिरी अभियान शुरू हो चुका है ..

    खुद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गांधीगिरी की तर्ज़ पर ऊर्जागिरी की शुरुआत की .. उत्तराखंड पावर कॉपरेशन के इस अभियान का मकसद प्रदेश में बिजली चोरी रोकने के साथ ही पावर लीकेज पर कण्ट्रोल करना है। मुख्यमंत्री आवास में आयोजित हुए कार्यक्रम में यूपीसीएल से प्रबंध निदेशक बी सी के मिश्रा और ओपरेशन हेड अतुल अग्रवाल ने इस अभियान के बारे में भीम टीवी से बात करते हुए जानकारी दी कि बिजली चोरी न सिर्फ अपराध है बल्कि प्रदेश के विकास में एक बड़ी चुनौती भी है…. लिहाज़ा सज़ा कम से कम हो और लोग जागरूक हो इसी मकसद से उर्जागिरी जैसे अभियान को लांच किया गया है कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ऊर्जा विभाग के इस अभियान की तारीफ करते हुए कहा कि जनता को जागरूक करने के लिए इस अभियान की भूमिका अहम साबित होगी।ऊर्जा सचिव राधिका झा ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के तीन बड़े ज़िले हरिद्वार उधमसिंह नगर और देहरादून सबसे ज्यादा बिजली का उपयोग करते हैं लिहाज़ा बिजली चोरी की ज्यादातर शिकायतें भी इन्हीं ज़िलों से मिलती है..इस दिशा में उन्होंने विजिलेंस चीफ निवेदिता कुकरेती से बात कर एक साझा अभियान चलाने की बात कह रही हैं। वहीँ विजिलेंस चीफ निवेदिता कुकरेती का कहना है की उत्तराखंड में बिजली चोरी के मामले दूसरे राज्यों से जिन तीन जिलों में इसकी ज्यादातर शिकायत मिल रही है वहाँ लगातार कार्यवाही भी की जा रही है। अब राज्य सरकार और ऊर्जा विभाग ने ऊर्जागिरी शुरू कर लोगों को बिजली चोरी न करने की शपथ दिलाने जा रही है अब ऐसे में उम्मीद है की जनता में जागरूकता बढ़ेगी और इस अपराध में कमी आएगी। मुख्यमंत्री रावत ने बताया कि उर्जागिरी के ज़रिये बिजली चुराने वालों को राज्य सरकार पहले तो गांधीगिरी के सिखाएगी लेकिन अगर शिकायत नहीं रुकी तो सख्त कार्यवाही भी की जाएगी

    आपको बता दें कि राज्य में बिजली चोरी से बड़ा नुकसान राजस्व को हो रहा है विभाग मौजूदा आंकड़े बताते हैं की ऊर्जा विभाग को सलाना 200 करोड़ से 300 करोड़ के राजस्व का नुकसान बिजली चोरी से हो रहा है। ऐसे में अब उत्तराखंड पावर कॉपरेशन और विजिलेंस विभाग मिलकर प्रदेश में बिजली चोरी को रोकने के लिए पहले उर्जागिरी दिखाती नज़र आएगी…लेकिन फिर भी बिजली चोरी न रुकी तो ऐसे लोगों पर सख्त कार्यवाही भी की जाएगी

    Recent Articles

    साढ़े नौ बजे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शामिल होते ही शुरू हुआ अभियान

    सुबह नौ बजते बजते राजधानी की सड़कों पर जैसे जन सैलाब उमड़ पड़ा हो … स्कूली बच्चे...

    सिंगल यूज़ प्लास्टिक और पॉलिथीन के ख़िलाफ़ 50 किलोमीटर लंबी मानव श्रंखला,मुख्यमंत्री, मेयर और नगर आयुक्त के प्रयासों को मिला भारी जनसमर्थन।

    आज शायद पहली बार देहरादून की सड़कों पर घूमते हुए सुखद अनुभव का एहसास हुआ। यह भी यकीन हो गया कि...

    विनय शंकर पांडेय, आई.ए.एस. तो गज़ब निकला,1,28,600 लोगो की मनाव श्रखंला सड़क पर और 1,00,600 प्रशंसक फ़ेसबुक पर जोड़कर इतिहास बना डाला,पॉलिथीन के खिलाफ...

    ग्राफ़िक्स ….. आखिर नगर निगम ने बना ही दिया एक अनोखा रिकॉर्ड ह्यूमन चेन से जुड़े एक लाख अट्ठाइस हज़ार छह सौ लोग,सीनियर IAS विनय...

    A day workshop for Principals’ on “Experiential Learning and Orientation Programme on School Administration Management”

    CBSE की एक दिवसीय कार्यशाला : Rajawala – Dehradun. 23/10/2019 A day workshop for Principals’ on “Experiential Learning and Orientation Programme...

    MDDA का काला खेल, अपीलकर्ता ने सहस्त्रधारा रोड पर बन रहे पेसिफिक गोल्फ स्टेट की फाइल RTI द्वारा लेनी चाही तो विभाग द्वारा...

    एक अपीलकर्ता ने सहस्त्रधारा रोड पर बन रहे पेसिफिक गोल्फ स्टेट की फाइल RTI द्वारा लेनी चाही तो विभाग द्वारा RTI से...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on op - Ge the daily news in your inbox