• Home
More

    संपादकीय: तुमने क्या गुनाह किया, जो लुट गए

    Array

    कथित आतंकवादी याकूब मेमन की पत्नी की से हमदर्दी दिखाने वाले एसपी नेता मोहम्मद फारुक घोसी को भारी पड गया। अकलियतों की चहेती पार्टी ने फौरन चलता किर दिया। राहीन मेमन को सांसद बनाए जाने की मांग करने वाले सपा नेता मोहम्मद फारुक घोसी को पार्टी ने प्रदेश उपाध्यक्ष के पद से हटा दिया। पार्टी ने उनकी मांग से पल्ला झाड़ते हुए साफ कर दिया है कि पत्र में लिखी बातें घोसी की निजी राय है। इससे पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है। सवाल ये है कि पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है तो फिर हटाया क्यों? जो पार्टी 22 लोगों की हत्यारिन फूलन देवी को सांसद बना सकती है, कप्तान सींह विधायक बन सकते हैं, मित्रसेन यादव मंत्री बन सकते हैं तो फिर ये पार्टी याकूब मेमन की पत्नी से कन्नी क्यों काट रही है। क्या अगले साल होने वाले चुनाव का डर है।

    आखिर फारुक ने ऐसा क्या लिख दिया कि पार्टी के पसीने छूट गए। उन्होंने अपनी मांग के तहत एक पत्र समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह को लिखा। इसमें उन्होंने लिखा है कि याकूब की फांसी के बाद उनके मन में कुछ सवाल खड़े हो रहे हैं और उन्हीं से परेशान होकर उन्होंने यह पत्र लिखा है। घोसी ने लिखा है कि कोर्ट ने याकूब को दोषी करार दिया और उनकी पत्नी राहीन मेमन को बरी कर दिया, जो उसके साथ गिरफ्तारी के बाद कई वर्ष तक जेल में रही। उसने इस दौरान कितनी तकलीफ सही होगी।

    उन्होंने आगे लिखा है कि हम समाजवादियों की एक खूबी है कि मन की बात कहना जरूरी है। उन्होंने लिखा है कि याकूब की फांसी के बाद कई मुस्लिम अपने को असहाय महसूस कर रहे हैं। ऐसे में राहीन को सांसद बनाकर मजलूम और असहाय लोगों के लिए पार्टी को काम करना चाहिए। अंत में उन्होंने साफ किया है कि यह उनके निजी विचार है यदि इसमें कुछ भी गलत लगा हो तो उनको माफ कर दिया जाए। फिर भी पार्टी ने कडे कदम उठाए तो सवाल तो बनता है। क्या एसपी को बहुसंख्यक वोटों की चिंता सता रही है। क्या पिछले लोकसभा चुनाव का डर सता रहा है।

    Recent Articles

    आईआईपी और एसडीसी फाउंडेशन ने स्थापित किया देहरादून में दसवां प्लास्टिक बैंक

    आईआईपी और एसडीसी फाउंडेशन ने स्थापित किया देहरादून में दसवां प्लास्टिक बैंक माउंट...

    क्रिकेट में राजनीति,सीएयू सचिव चुनाव 20-20 में घमासान, कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री हीरा सिंह बिष्ट का साम,दाम,दंड,भेद और वर्मा की विनम्रता ?

    सीएयू सचिव चुनाव-2020 राज+नीति बनाम गिर-किट कहते है नेता, नेतागिरी से जाए लेकिन राजनीति से ना जाए...

    आज का युग ड्रोन क्रान्ति का युग है : श्रीमती बेबी रानी

    राज्य में आज द्वितीय दिवस के शुभ अवसर पर सूचना प्रौद्योगिकी विकास एजेंसी, देहरादून और राष्ट्रीय तकनीकी अनुसंधान...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on op - Ge the daily news in your inbox