• Home
  • India
More

    Corona की मार से कम हो गयी भारतीय अरबपतियों की तादात देखिये  Forbes Top 10 List 

    एक तरफ कोरोना का तूफ़ान दूसरी तरफ दौलतमंद भारतीयों की अकूत कमाई पर कोरोना का ग्रहण …. जी हाँ दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय पत्रिका फोर्ब्स ने भारत के टॉप अरबपतियों की सूची उस वक़्त जारी की है जब देश की अर्थव्यवस्था पटरी से उतरती दिख रही है। ऐसे में टॉप के दस उद्योगपतियों की कमाई पर यूँ तो कोई ख़ास असर नहीं पड़ा है। अलबत्ता इस संकट काल में कई रईसों ने जमकर मुनाफा भी कमाया है…  इस दिलचस्प लिस्ट की माने तो कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के कारण दुनिया भर के बड़े कारोबारियों के साथ ही भारत के प्रमुख कारोबारियों की संपत्ति में भी मामूली नुकसान तो ज़रूर हुआ है…. बावजूद इस ग्रहण काल के दरम्यान रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष मुकेश अंबानी इस सूची में आज भी टॉप पर काबिज़ हैं ..  वे भारत के सबसे अमीर व्यक्ति के साथ ही एशिया के भी सबसे अमीर बिजनेसमैन हैं।    

    सबसे दिलचस्प है भारतीय अरबपतियों की संख्या में कमी … पिछले साल के 106 के मुकाबले आज भारत में इनकी संख्या घटकर 102 रह गई है। साथ ही इनकी टोटल संपत्ति 23 फीसद घटकर 313 अरब डॉलर रह गई है। सामूहिक संपत्ति में इस गिरावट के करीब पांचवें हिस्से के लिये टेक टायकून अजीम प्रेमजी की उदारता को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, जिन्होंने अपने हिस्से की एक बड़ी राशि विप्रो में दान कर दी। वहीं, रिटेलिंग टायकून और डी-मार्ट सुपरमार्केट चेन के मालिक राधाकिशन दामनी संपत्ती में गिरावट के इस दौर से अछूते रहे हैं। उनकी संपत्ती बढ़कर 13.8 बिलियन डॉलर हो गई है। संपत्ती में इस उछाल से वे भारत के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। वहीँ जिओ मैजिक के भरोसे नए आयाम बना रहे मुकेश अंबानी की संपत्ति में भी 13.2 अरब डॉलर की गिरावट आ गयी है हांलाकि इस घाटे को ऊंट के मुँह में जीरा ही माना जा रहा है। तेल और गैस कारोबार से लेकर टेलिकॉम सेक्टर तक में अपना प्रभुत्व जमा चुके RIL के अध्यक्ष मुकेश अंबानी 36.8 अरब डॉलर की संपत्ती के साथ देश के सबसे अमीर व्यक्ति बने हुए हैं।

    सबसे दिलचस्प है भारतीय अरबपतियों की संख्या में कमी … पिछले साल के 106 के मुकाबले आज भारत में इनकी संख्या घटकर 102 रह गई है। साथ ही इनकी टोटल संपत्ति 23 फीसद घटकर 313 अरब डॉलर रह गई है। सामूहिक संपत्ति में इस गिरावट के करीब पांचवें हिस्से के लिये टेक टायकून अजीम प्रेमजी की उदारता को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, जिन्होंने अपने हिस्से की एक बड़ी राशि विप्रो में दान कर दी। वहीं, रिटेलिंग टायकून और डी-मार्ट सुपरमार्केट चेन के मालिक राधाकिशन दामनी संपत्ती में गिरावट के इस दौर से अछूते रहे हैं। उनकी संपत्ती बढ़कर 13.8 बिलियन डॉलर हो गई है। संपत्ती में इस उछाल से वे भारत के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। वहीँ जिओ मैजिक के भरोसे नए आयाम बना रहे मुकेश अंबानी की संपत्ति में भी 13.2 अरब डॉलर की गिरावट आ गयी है हांलाकि इस घाटे को ऊंट के मुँह में जीरा ही माना जा रहा है। तेल और गैस कारोबार से लेकर टेलिकॉम सेक्टर तक में अपना प्रभुत्व जमा चुके RIL के अध्यक्ष मुकेश अंबानी 36.8 अरब डॉलर की संपत्ती के साथ देश के सबसे अमीर व्यक्ति बने हुए हैं।

    इन सबके बीच चौकाने वाला नाम शामिल हुआ है बेहद कम उम्र के बायजू रवीन्द्रन का जिन्होंने ऑनलाइन एजुकेशन एप्प बायजु लांच कर सुर्खियां बटोरी है….. इस लिस्ट के मुताबिक बायजू सबसे कम उम्र के अरबपति बन गए है।  बाजयू के जनवरी में हुए अंतिम फंडिंग राउंड में कंपनी की वैल्यू 8 अरब डॉलर थी। कंपनी के निवेशकों में मार्क जुकरबर्ग और चीन की टेनसेंट भी शामिल है। बायजू एप के अब तक 4.20 करोड़ डाउनलोड हो चुके हैं। फोर्ब्स ने रविंद्रन की संपत्ति 1.8 अरब डॉलर बताई है।

    अब सिलसिलेवार आपको बताते हैं टॉप लिस्ट में कौन कौन से नाम शामिल हैं 

    फोर्ब्स की लिस्ट के अनुसार, देश के टॉप-10 अरबपतियों में तीसरे नंबर पर हैं, शिव नडार। उनकी कुल संपत्ति 11.9 अरब डॉलर की है। उनका सॉफ्टवेयर सर्विस का कारोबार है। चौथे नंबर पर हैं, उदय कोटक। कोटक की संपत्ति 10.4 अरब डॉलर की है। उनका बैंकिंग का कारोबार है। सूची में पांचवें नंबर पर गौतम अडानी हैं। उनकी कुल संपत्ति 8.9 अरब डॉलर है। उनका कमोडिटी और पोर्ट्स का कारोबार है। सूची में छठे नंबर पर सुनील मित्तल हैं। उका टेलिकॉम का कारोबार है और कुल संपत्ति 8.8 अरब डॉलर है।

    सूची में सातवें नंबर पर हैं, सायरस पूनावाला। उनका वैक्सीन का कारोबार है और कुल संपत्ति 8.2 अरब डॉलर की है।फोर्ब्स की सूची में आठवें नंबर पर कुमार बिरला का नाम है। उनका कमोडिटी का व्यवसाय है और कुल संपत्ति 7.6 अरब डॉलर की है। नौवें नंबर पर लक्ष्मी मित्तल का नाम है। उनका स्टील का कारोबार है और कुल संपत्ति 7.4 अरब डॉलर है। फोर्ब्स की सूची में दसवां नाम अजीम प्रेमजी का है। उनका सॉफ्टवेयर सर्विस का कारोबार है और कुल संपत्ति 6.1 अरब डॉलर की है।

    तो देखा आपने जिस वक्त देश कोरोना और लॉक डाउन के  अभूतपूर्व संकट को झेल रहा है उस दौरान हमारे देश में अरबपतियों की आमदनी पर भी हल्का फुल्का उतार चढ़ाव नज़र आ रहा है …उम्मीद की जा रही है की जैसे जैसे भारत में लॉक डाउन के बाद उद्योग व्यापार रफ़्तार पकड़ेगा इन दौलतमंद व्यापारियों का खजाना भी रफ़्तार से और भरेगा लेकिन देश के सामने बड़ा सवाल आज देश के उन करोड़ों मज़दूरों की आमदनी का है जो पलायन की वजह से ठप सी पड़ गयी है। 

    Recent Articles

    प्रदेश के पहले ई-वेस्ट स्टूडियो का उद्घाटन मुख्यमंत्री, श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, के कर कमलों द्वारा किया गया

    दिनांक 27-11-2020 को प्रदेश के पहले ई-वेस्ट स्टूडियो का उद्घाटन माननीय मुख्यमंत्री, उत्तराखंड, श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी, के कर कमलों द्वारा...

    Sanjay Dhotre on his visit to Dehradun regarding spread of Internet facilities and Mobile network in Dev Bhoomi Uttarakhand

    Shri Sanjay Dhotre, Minister of State for Education, Communications and Electronics &...

    रमेश भट्ट का गीत मेरी शान उत्तराखंड हुआ रिलीज

    रमेश भट्ट का गीत मेरी शान उत्तराखंड हुआ रिलीज देहरादून: ...

    देश का सबसे लम्बा भारी वाहन झूला पुल है डोबरा-चांठी

    • मुख्यमंत्री ने किया डोबरा-चांठी पुल का लोकार्पण। • देश का सबसे लम्बा भारी वाहन झूला...

    हॉफ जयराज ने कैरियर में जीव,जंतु और पेड,पौधों की रक्षा की तो मानवता और अदा-ओ-अंदाज़ से लबरेज़ क़ाबिलियत भी साबित की,साढ़े 37 साल का...

    हॉफ जयराज ने कैरियर में जीव,जंतु और पेड,पौधों की रक्षा की तो मानवता और अदा-ओ-अंदाज़ से लबरेज़ क़ाबिलियत भी साबित की,साढ़े 37...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on op - Ge the daily news in your inbox