Flash Story
देहरादून :  मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल लिवर रोगों  को दूर करने में सबसे आगे 
जेल में बंद कैदियों से मिलने के लिए क्या हैं नियम
क्या आप जानते हैं किसने की थी अमरनाथ गुफा की खोज ?
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने भारतीय वन सेवा के 2022 बैच के प्रशिक्षु अधिकारियों को दी बधाई
आग में फंसे लोगों के लिये देवदूत बनी दून पुलिस
आगर आपको चाहिए बाइक और स्कूटर पर AC जैसी हवा तो पड़ ले यह खबर
रुद्रपुर : पार्ट टाइम जॉब के नाम पर युवती से एक लाख से ज्यादा की ठगी
देहरादून : दिपेश सिंह कैड़ा ने UPSC के लिए छोड़ दी थी नौकरी, तीसरे प्रयास में पूरा हुआ सपना
उत्तराखंड में 10-12th के बोर्ड रिजल्ट 30 अप्रैल को होंगे घोषित, ऐसे करें चेक 

उत्तराखंड सियासत 2022: फ्री बिजली मुद्दे पर भाजपा और कांग्रेस को आप की चुनौती, 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जब से प्रदेश के हर परिवार को 300 यूनिट मुफ्त बिजली प्रतिमाह देने की बात कही, तब से भाजपा व कांग्रेस में खलबली मची है।

आम आदमी पार्टी ने फ्री बिजली के मुद्दे पर भाजपा व कांग्रेस को सार्वजनिक मंच पर बहस करने की चुनौती दी है। आप के वरिष्ठ नेता कर्नल (सेनि.) अजय कोठियाल ने कहा कि दोनों ही दल मुफ्त बिजली देने पर जनता को गुमराह कर रहे हैं। आप दोनों दलों को बताएगी कि प्रदेश के हर परिवार को कैसे 300 यूनिट बिजली देंगे।

कोठियाल ने जारी बयान में कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जब से प्रदेश के हर परिवार को 300 यूनिट मुफ्त बिजली प्रतिमाह देने की बात कही, तब से भाजपा व कांग्रेस में खलबली मची है। दोनों ही दल प्रदेश के लोगों को उनका हक देने के पक्षकार नहीं हैं। मुफ्त बिजली को लेकर दोनों दलों का स्टैंड साफ नहीं है।

बहनों के रोजगार की लड़ाई लड़ेगा उनका भाई कर्नल कोठियाल

टेक होम राशन स्कीम पर जारी किए गए टेंडर को लेकर आम आदमी पार्टी ने सवाल उठाए हैं। कोठियाल ने कहा मेरे उत्तराखंड में सरकार मेरी बहनों से रोजगार छीन रही है। इससे ज्यादा पीड़ा देने वाली बात और क्या हो सकती है। टेक होम राशन स्कीम जिससे हमारी गढ़वाल और कुमाऊं की बहनों को रोजगार मिल रहा था अब उसे भाजपा सरकार निजी हाथों में बेच रही है।

एक तरफ सरकार महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का दावा कर रही है। वहीं दूसरी तरफ टेक होम राशन का निजीकरण कर उनका रोजगार छीना जा रहा है। इसके विरोध में प्रदेश भर में 40 हजार महिलाएं आंदोलन कर रही हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top