Flash Story
देहरादून :  मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल लिवर रोगों  को दूर करने में सबसे आगे 
जेल में बंद कैदियों से मिलने के लिए क्या हैं नियम
क्या आप जानते हैं किसने की थी अमरनाथ गुफा की खोज ?
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने भारतीय वन सेवा के 2022 बैच के प्रशिक्षु अधिकारियों को दी बधाई
आग में फंसे लोगों के लिये देवदूत बनी दून पुलिस
आगर आपको चाहिए बाइक और स्कूटर पर AC जैसी हवा तो पड़ ले यह खबर
रुद्रपुर : पार्ट टाइम जॉब के नाम पर युवती से एक लाख से ज्यादा की ठगी
देहरादून : दिपेश सिंह कैड़ा ने UPSC के लिए छोड़ दी थी नौकरी, तीसरे प्रयास में पूरा हुआ सपना
उत्तराखंड में 10-12th के बोर्ड रिजल्ट 30 अप्रैल को होंगे घोषित, ऐसे करें चेक 

कोरोना: 6 तस्वीरें दिखाकर केंद्र ने कहा- नियम नहीं माने तो लग सकती हैं पाबंदियां

[ad_1]

नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus Second Wave) के धीमे पड़ने के बाद बाजारों और पहाड़ी क्षेत्रों में लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे लेकर चेतावनी जारी की है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मंगलवार को कहा कि हिल स्टेशन जा रहे लोग कोविड उपयुक्त व्यवहार नहीं अपना रहे हैं. अग्रवाल ने कहा कि अगर प्रोटोकॉल में का पालन नहीं किया जाता है तो हम प्रतिबंधों में मिली ढील को फिर से खत्म कर सकते हैं. अग्रवाल ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर अभी भी सीमित दायरे में कई जगहों पर मौजूद है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने हिल स्टेशनों में पहुंच रही भारी भीड़ को देखते हुए कहा कि कोविड-19 के उचित व्यवहार का घोर उल्लंघन कोरोना के मामलों में आई कमी को कम कर सकता है. अग्रवाल ने कहा कि देश में एक्टिव मामले 5 लाख से कम हो गए है इसके साथ ही कोविड मामले भी 30 फीसदी तक कम हुए हैं. उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र, तमिलनाडु, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, मेघालय, सिक्किम में 10 फीसदी पॉजिटिविटी से ज्यादा मामले सामने आ रहे.

ये भी पढ़ें- ट्विटर ने नहीं माने नियम, दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा- केंद्र सरकार कार्रवाई के लिए स्वतंत्र

केंद्र ने कहा- डराने वाली हैं तस्वीरें

वहीं पहाड़ी क्षेत्रों और बाजारों से आ रही तस्वीरों को लेकर आईसीएमआर के प्रमुख डॉ बलराम भार्गव ने कहा कि ये तस्वीरें डराने वाली हैं. लोगों को कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करना चाहिए. भार्गव ने कहा कि भविष्य की चुनौती कोरोना की तीसरी लहर नहीं बल्कि हम उसे लेकर क्या रुख अख्तियार करते हैं, यह है. लहर के पहलू को उजागर करने के बजाय, हमें प्रसार को रोकने के लिए कोविड उपयुक्त व्यवहार/प्रतिबंधों पर ध्यान देना चाहिए.

गौरतलब है कि देश में कोविड-19 के एक दिन में 34,703 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 3,06,19,932 हो गई जबकि 553 और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 4,03,281 हो गई है. पिछले 111 दिनों में संक्रमण के सबसे कम नए मामले और करीब 90 दिनों में सबसे कम मौत के मामले आए हैं.

ये भी पढ़ें- क्या कोरोना प्रभावित युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देगी मोदी सरकार? जानें सच्चाई

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मंगलवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 4,64,357 हो गई है और यह संक्रमण के कुल मामलों का 1.52 प्रतिशत है जबकि कोविड से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर सुधरकर 97.17 प्रतिशत हो गई है. मंत्रालय ने बताया कि 24 घंटे की अवधि में उपचाराधीन मामलों की संख्या 17,714 घटी है.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top