Flash Story
देहरादून :  मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल लिवर रोगों  को दूर करने में सबसे आगे 
जेल में बंद कैदियों से मिलने के लिए क्या हैं नियम
क्या आप जानते हैं किसने की थी अमरनाथ गुफा की खोज ?
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने भारतीय वन सेवा के 2022 बैच के प्रशिक्षु अधिकारियों को दी बधाई
आग में फंसे लोगों के लिये देवदूत बनी दून पुलिस
आगर आपको चाहिए बाइक और स्कूटर पर AC जैसी हवा तो पड़ ले यह खबर
रुद्रपुर : पार्ट टाइम जॉब के नाम पर युवती से एक लाख से ज्यादा की ठगी
देहरादून : दिपेश सिंह कैड़ा ने UPSC के लिए छोड़ दी थी नौकरी, तीसरे प्रयास में पूरा हुआ सपना
उत्तराखंड में 10-12th के बोर्ड रिजल्ट 30 अप्रैल को होंगे घोषित, ऐसे करें चेक 

19 साल का विभीषण निकला हेलीकॉप्टर बुकिंग फ्रॉड का मास्टरमाइंड – चमोली पुलिस को बड़ी कामयाबी

इन दिनों प्रदेश में चल रही चारधाम यात्रा के दौरान साइबर ठगों द्वारा फर्जी साइट तैयार कर होटल बुकिंग, यात्रा रजिस्ट्रेशन, व चारधाम यात्रा हेतु हैलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर फर्जी साइट्स बनाकर लाखों रुपये की ठगी की जा रही है। इसी क्रम मेंबीते दिनों उत्तर प्रदेश से श्री बद्रीनाथ दर्शन को आए श्रद्धालु अम्बरीश कुमार ने कोतवाली बद्रीनाथ में आकर बताया कि हिमालयन हेली सर्विस प्राइवेट लिमिटेड द्वारा केदारनाथ हेतु ऑनलाइन हेलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर उनके साथ 24,590/ रुपये की ठगी की गई है।

देशभर में श्रद्धालुओं के साथ घटित हो रही इस घटना की गम्भीरता का स्वयं संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक जनपद चमोली श्वेता चौबे ने कोतवाली श्री बद्रीनाथ को इस मामले में मुकदमा पंजीकृत करने व फ्रॉड से सम्बन्धित अभियुक्त की शीघ्र गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित करने के निर्देश दिए । एसपी के आदेश के बाद कोतवाली श्री बद्रीनाथ में मुकदमा दर्ज़ कर थाना गोविन्दघाट में नियुक्त उपनिरीक्षक विनोद चौरसिया ने छानबीन शुरू की।

अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए उपनिरीक्षक विनोद चौरसिया के नेतृत्व में एसओजी टीम ने बेहद तेज़ी के साथ सटीक कार्यवाही करते हुए सर्विलांस शाखा एवं तकनीकी सहायता से फोन कॉल्स एवं लोकेशन के आधार पर अभियुक्त का नवादा (बिहार) में होने का

पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे के आदेश से अभियुक्त की तलाश एवं गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम बिहार रवाना की गई। मोबाइल लोकेशन,एटीएम की सीसीटीवी फुटेज एवं बैंक डिटेल व आधार कार्ड पर लगी फोटो के आधार पर स्थानीय पुलिस/बैंक कर्मियों एवं अन्य की सहायता से बिहार में लगातार 10 दिनों के कार्यवाही और शिकायतकर्ता को कॉल करने बाले एवं वैबसाइट पर लिंक मोबाइल नम्बर और दो मोबाइल फोन व 42,000/-रुपये नगद के साथ 19 साल के मुख्य अभियुक्त विभीषण महतो को थाना नवादा (बिहार) से गिरफ्तार कर बड़ी कामयाबी पाई है।

पूछताछ में अभियुक्त विभीषण ने कबूल किया कि उसके द्वारा ही हेलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर लोगों से ठगी की जा रही है व अबतक देशभर में अलग-अलग लोगों से 15 से 20 लाख की धोखाधड़ी की जा चुकी है।

कैसे होता था ऑनलाइन फ्रॉड का खेल –

अभियुक्त ने बताया कि केदारनाथ व बद्रीनाथ के लिए हैलीकॉप्टर बुकिंग हेतु फर्जी वेबसाइट्स तैयार करने व उन साइट्स की होस्टिंग के लिए तेलंगाना निवासी एक इंजीनियर की मदद ली जाती है, जिसे अभियुक्त द्वारा प्रतिदिन 4000/- से 5000/- रुपये भुगतान किया जाता है। ताकि फर्जी वैबसाइट्स गूगल पर सर्च करने पर सबसे ऊपर दिखाई दे। चारधाम यात्रा के दौरान हैलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर लोगों से ठगी के लिए अभियुक्त द्वारा दो अलग-अलग साइट्स 1- https://www.himalayanheliservice.com
2- https://www.kedarnathjourney.com बनवाई गई ।

अभियुक्त ने बताया कि इन साइट्स पर अभियुक्त उसने अपने अलग-अलग फर्जी मोबाइल नम्बर डाले गए थे,जिन पर यात्रियों के द्वारा कॉल करने पर मैं ही स्वयं केदारनाथ व बद्रीनाथ हेतु हैली बुकिंग व पैकेज किराये के बारे में बताता हूँ। जैसे ही यात्री मेरी बातों में आकर हैली बुकिंग करवाने को तैयार हो जाते हैं, तो मैं SBI बैंक और अन्य माध्यमों से पैसे मंगवाता हूँ,और जब यात्रियों को शक होता है कि उनके साथ धोखाधड़ी हो गयी है तो यह कहकर और पैसे मंगवा लेता हूँ कि website suspend हो गयी है,यदि आप अपनी कन्फर्म टिकट चाहते हैं तो आपको कुछ पैसे और देने पड़ेंगे, इस पर लोग और पैसे मेरे एसबीआई अकाउंट में, पेटीएम में, तथा यूपीआई के माध्यम से भेज देते हैं। उन पैसों को मैं तत्काल नेट बैंकिंग व अन्य एप्प के माध्यम से लगातार अन्यत्र ट्रांन्सफर करके कुछ पैसों को एटीएम से निकाल लेता हूँ और कुछ पैसों को यूनियन बैंक,एक्सिस बैंक,एचडीएफसी बैंक,फिनो पेमेन्ट बैंक,एयरटेल पेमेऩ्ट बैंक,पेटीएम पेमेऩ्ट बैंक में ट्रांसफर कर देता हूँ। मेरे द्वारा पिछले 20-25 दिनों में काफी लोगों के साथ केदारनाथ हैली सर्विस, बद्रीनाथ हैली सर्विस पर करीब 15-20 लाख रुपये की धोखाधड़ी की गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top